बोले अखिलेश, दलित पिछड़ों की हुई जीत, मायावती- अमर से रिश्ते पर भी तोड़ी चुप्पी

बोले अखिलेश, दलित पिछड़ों की हुई जीत, मायावती- अमर से रिश्ते पर भी तोड़ी चुप्पी
Publish Date:15 March 2018 06:35 PM

लखनऊ: गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में मिली जीत के बाद समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने जीत के लिए सभी को शुभकामाएं दीं.  प्रेस कॉन्फेंस में उन्होंने मायवती से रिश्ते और मुलाकात पर भी जवाब दिया. अखिलेश ने कहा,  हम समाजवादी सबका सम्मान करते हैं और हमारे रिश्ते कभी खराब नहीं रहे. मायावती से मुलाकात पर उन्होंने कहा कि कुछ लोग पुरानी बातें याद करा रह थे, लेकिन कभी-कभी पुरानी बातें भूलनी पड़ती है. हमारे संबंध सबके साथ बेहतर हैं. उन्होंने कहा कांग्रेस से भी बेहतर रिश्ते होने की बात कही. उन्होंने राहुल गांधी का नाम लिये बिना कहा कि हम दोनों युवा नेता हैं और हमें साथ मिल कर देश के लिए काम करना है. अखिलेश यादव ने जीत के लिए दलित-पिछड़ा गठजोड़ को जिम्मेवार बताया और अमर सिंह पर भी पूछे गये सवाल का जवाब दिया. अखिलेश यादव ने कहा कि अमर सिंह हमारे अंकल हैं और हम उनके भतीजे हैं, चाचा भजीते को जानता है और भतीजा चाचा को जानता है। मायावती के संबंध में संभवतः अखिलेश का इशारा गेस्ट हाउस कांड की ओर था, जिसमें सपा समर्थकों पर मायावती से बेहद बुरा बर्ताव करने का आरोप लगा था और इसके लिए बसपा खेमे से तत्कालीन सपा प्रमुख मुलायम सिंह को जिम्मेवार बताया जाता रहा है. अखिलेश यादव ने भविष्य की योजनाओं पर कहा कि इस पर कोई कुछ नहीं कह सकता. अमर सिंह से रिश्ते के सवाल पर बोले वह हमारे अंकल है. दोनों एक-दूसरे को जानते हैं. कांग्रेस के साथ रिश्ते पर अखिलेश ने कहा, कांग्रेस के साथ हमारे संबंध अच्छे हैं. वह भी युवा हैं और हम भी. मिलकर काम करना होगा.उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार ने उदाहरण पेश किया है कि विकास का क्या रास्ता है. आगरा-लखनऊ सड़क देश के लिए उदाहरण है. मेडिकल कॉलेज के लिए लखनऊ उदाहरण है. मेट्रो के लिए लखनऊ में जोे मेट्रो बनी है उदाहरण है. इसी तरह कई ऐसे उदाहरण हैं. टेक्नोलॉजी को लेकर कई उदाहरण हैं. उन्होंने अखबारों में जीत की खबर और दूसरी स्टोरी का जिक्र करते हुए कहा, जिस तरह से पत्रकारों ने इस पर ध्यान दिया है, जैसी स्टोरी लिखी है उससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कितनी बड़ी जीत है. दलित, अल्पसंख्यक और पिछड़े लोगों की जीत है.अखिलेश ने कहा, पिता अपने बेटों में खुद को देखता है. जीते प्रवीण कुमार निशाद इंजीनियर हैं. यह नोट बोल्ड ठीक करने वाले इंजीनियर है. मैकेनिकल हैं. अगर गाड़ी का ईजन देखेंगे तो पायेंगे कि पिस्टन ऊपर नीचे चलती है. यह पहिया को ऊपर नीचे कैसे घूमती है. उन्होंने पहिये को घुमाया है पिस्टन को पहिये में बदला है. गोरखपुर में इन्होंने यही किया है. यह जीतकर लोकसभा में जायेंगे यह गोरखपुर की आवाज सदन में रखेंगे. मां ने बच्चे खोये, किसानों की हालत खराब है. गरीब महिलाओं की पेंशन छिन ली. इन सारे मुद्दों को सामने रखेंगे. कई मुद्दों का जिक्र करते हुए अखिलेश ने भाजपा सरकार पर निशाना साधा उन्होंने कहा, कई ऐसी योजनाएं हैं जिस पर काम नहीं हुआ. एम्स के लिए जमीन मिली लेकिन पैसा नहीं मिला, फूलपुर में मिली जीत से साफ है कि वहां कमल मुरझा गया. अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपने सभी उम्मीदवारों का परिचय कराते हुए उनकी पढ़ाई और उपलब्धियों का जिक्र किया. जीत के लिए अखिलेस ने सभी को शुभकामनाएं दी. कार्यकर्ताओं को जीत का श्रेय दिया. उन्होंने युवा कार्यकर्ताओं को कहा कि इस बार आपने काम किया. आपको अपनी पीढ़ी बदलनी है और आने वाली पीढ़ियों का भविष्य बेहतर करना है.  
 

संबंधित ख़बरें