कोरिया के खिलाफ स्वीडन की निगाहें जीत दर्ज करने पर: FIFA Worldcup

कोरिया के खिलाफ स्वीडन की निगाहें जीत दर्ज करने पर: FIFA Worldcup
Publish Date:18 June 2018 10:37 AM

स्वीडन और दक्षिण कोरिया को भली भांति पता है कि ग्रुप एफ में गत चैम्पियन जर्मनी और मेक्सिको जैसी शीर्ष टीमों की मौजूदगी में 2018 फीफा विश्व कप में उनके लिए आगे की राह आसान नहीं होगी इसलिए आज दोनों के बीच होने वाले मुकाबले का नतीजा काफी अहम रहेगा। हालांकि दोनों टीमों में से अगर कोई भी अगले दौर में पहुंचती है तो यह काफी हैरानी भरा परिणाम होगा लेकिन शुरूआती मैच में जीत मनोबल बढ़ाने में महत्वपूर्ण साबित होगी।     पिछले 12 वर्षों में स्वीडन की टीम पहली बार विश्व कप फाइनल्स में पहुंची है, हालांकि टीम अपने करिश्माई जलाटन इब्राहिमोविच के बिना होगी। लेकिन टीम मजबूत है और एक इकाई के रूप में खेल रही है जो क्वालीफायर में इटली को हराकर उलटफेर करते हुए रूस 2018 विश्व कप में पहुंची है। उनके क्वालीफाइंग ग्रुप में फ्रांस और नीदरलैंड जैसी टीमें शामिल थी जिसमें वह दूसरे स्थान पर रही थी।          
उसके लिये स्टार खिलाड़ी एमिल फ्रोसबर्ग होगा जो काफी चतुराई से आक्रमण की दिशा बदल सकते हैं। वहीं डिफेंस में मैनचेस्टर यूनाईटेड के सेंटर बैक विक्टर ङ्क्षलडेलोफ भी अपनी काबिलियत साबित करना चाहेंगे।          
वहीं दक्षिण कोरियाई टीम अपना 10वां विश्व कप खेलेगी और उनका सिर्फ एक ही स्पष्ट उद्देश्य है कि उन्हें चार साल पहले ब्राजील के अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा जिसमें वह एक भी मैच नहीं जीत सकी थी और सिर्फ एक अंक हासिल कर ग्रुप चरण में ही बाहर हो गयी थी। हालांकि टीम से उम्मीद काफी कम है और विश्व कप में उसका रिकार्ड भी खराब है। पर टीम टोटेनहम होत्सपुर के हीयुंग मिन सोन से प्रेरणा लेना चाहेगी जिन्होंने शानदार सत्र में 18 गोल दागे और छह गोल करने में मदद की।           
वहीं ली सेयुंग वू भी विश्व पटल पर अपना प्रभाव छोडऩे की उम्मीद लगाये होंगे जो बर्सिलोना में बड़े हुए हैं और 12 साल की उम्र में क्लब से जुड़े लेकिन 2017 में वेरोना चले गये। ये दोनों खिलाड़ी अपनी तेजी और फिनिशिंग काबिलियत से स्वीडन के लिये परेशानी खड़ी करने की कूव्वत रखते हैं। 

 

संबंधित ख़बरें