बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता कादर खान का हुआ निधन

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता कादर खान का हुआ निधन
Publish Date:01 January 2019 11:44 PM

रिपोर्ट - दिनेश सिंह तरकर

 

कादर खान ने अमिताभ को बनाया था बॉलीवुड का महानायक, लेकिन बदले में खत्म कर दिया करियर

 

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता कादर खान का निधन हो गया है। न्यूज एजेंसी पीटीआई और आईएनएस ने इस खबर की पुष्टि कर दी है। कादर खान लंबे समय से बीमार थे और कनाडा के एक अस्पताल में उनका निधन हो गया है। कादर के बेटे सरफराज खान ने इस बात की पुष्टि कर दी है।

कहते हैं कि कादर खान ने अमिताभ बच्चन को बॉलीवुड का महानायक बनाया है। उनकी ज़्यादातर कामयाब फिल्मों के डायलाग और संवाद कादर खान ने ही लिखे थे। लेकिन अमिताभ बच्चन ने कादर खान का करियर खत्म करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

बात करीब छह सात साल पहले की है, कादर खान अपने कुछ पुराने पत्रकार मित्रों के साथ बैठे गपशप कर रहे थे और जिक्र निकल आया अमिताभ बच्चन का। पहले तो कादर खान देर तक इस मसले पर कुछ नहीं बोले। बोले क्या दरअसल वह अमिताभ बच्चन का नाम सुनकर बिल्कुल शांत हो गए थे। फिर, उन्होंने जो कुछ कहा उसे सुनकर हर कोई अवाक रह गया था।

कादर खान के शब्द थे, ‘अगर मैं अमित को सरजी कहकर बुलाना शुरू कर देता तो मेरा करियर यूं एकाएक खत्म न हो जाता।’ कादर खान ने फिर पूरा वाकया भी सुनाया। उन्होंने बताया कि कैसे दक्षिण भारत के एक प्रोड्यूसर ने एक बार उनसे मिलकर इस बारे में बात की थी। एक फिल्म में उन्हें बतौर संवाद लेखक लेने के बात चल रही थी और उस निर्माता ने कादर खान से कहा कि आप ‘सर जी’ से मिल लो। इस पर कादर खान ने सवाल किया, कौन सर जी? 

निर्माता ने कहा कि आप ‘सर जी’ को नहीं जानते। अरे, अमिताभ बच्चन। कादर खान ने छूटते ही पूछा कि ये सर जी कब से हो गया। तब तक फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने अमिताभ बच्चन को ‘सर जी’ कहकर बुलाना शुरू कर दिया था। कादर खान ने साफ कहा कि मैं अमिताभ बच्चन को अमित कहकर ही बुलाता था और दोस्तों को, घर वालों को वह कभी ‘जी’ संबोधन के साथ नहीं बुला सकते। 

कादर खान ने उस बातचीत में माना भी कि इसी के चलते उन्हें खुदा गवाह से बाहर किया गया। मनमोहन देसाई की फिल्म गंगा जमना सरस्वती आधी लिखने के बाद उन्हें छोड़नी पड़ी और भी अमिताभ बच्चन की तमाम अंडर प्रोडक्शन फिल्में थी, जिनमें वह बतौर कलाकार या लेखक शामिल थे, लेकिन ये सारी फिल्में उनके हाथ से सिर्फ इसलिए निकल गईं क्योंकि अमिताभ बच्चन को ‘सर जी’ कहना उन्हें मंजूर नहीं हुआ।

अमिताभ बच्चन और खान ने कई फिल्मों में एक साथ काम किया था। दो और दो पांच, मुकद्दर का सिकंदर, मिस्टर नटवरलाल, सुहाग, कुली और शहंशाह जैसी फिल्मों में अमिताभ और कादर खान ने साथ-साथ काम किया। अमिताभ बच्चन ने अपनी कई सुपरहिट फिल्मों शराबी (1984), कुली (1983), लावारिस (1981), मुकद्दर का सिकंदर (1978), अमर अकबर, एंथनी (1977), सत्ते पे सत्ता (1982) और अग्निपथ (1990) में कादर खान के लिखे हुए डायलॉग ही बोले थे।

संबंधित ख़बरें