कर्नाटक में सियासी घमासान अपनी चरम सीमा पर

कर्नाटक में सियासी घमासान अपनी चरम सीमा पर
Publish Date:18 May 2018 01:58 PM

कर्नाटक में सियासी घमासान अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया है। उच्चतम न्यायालय द्वारा कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा को कल बहुमत साबित करने का आदेश दिए जाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि इससे उनकी पार्टी के इस रुख की पुष्टि होती है कि राज्यपाल वजुभाई वाला ने असंवैधानिक ढंग से काम किया।  राहुल ने ट्वीट कर कहा कि उच्चतम न्यायालय के आज के आदेश से हमारे इस रुख की पुष्टि होती है कि राज्यपाल ने असंवैधानिक ढंग से काम किया। उन्होंने कहा कि संख्या के बिना सरकार गठन के भाजपा के दावे को न्यायालय ने खारिज किया है। राहुल ने दावा किया कि कानूनी रूप से रोके जाने के बाद भाजपा अब ‘सत्ता हासिल करने के लिए धन और बल इस्तेमाल करने का प्रयास करेगी। कांग्रेस अध्यक्ष ने वीरवार को मोदी सरकार की निंदा करते हुए देश के वर्तमान राजनीतिक हालात की तुलना पाकिस्तान से कर दी थी। उन्होंने कहा था कि संविधान ‘‘ गंभीर खतरे ’’ का सामना कर रहा है और देश में भय का वातावरण है। 
दरअसल शीर्ष अदालत ने आज अपने आदेश में येदियुरप्पा को कल शाम चार बजे विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा है। राज्यपाल ने बुधवार को येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिया था। इसके विरोध में कांग्रेस ने बुधवार रात ही शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया था। गौरतलब है कि राज्य में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। प्रदेश की 224 सदस्यीय विधानसभा में 222 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जद एस+ को 38 सीटें मिली हैं। फिलहाल, बहुमत के लिए जादुई आंकड़ा 112 है।