एससी-एसटी एक्ट: SC के फैसले से नाराज कांग्रेस का संसद परिसर में प्रदर्शन

एससी-एसटी एक्ट: SC के फैसले से नाराज कांग्रेस का संसद परिसर में प्रदर्शन
Publish Date:23 March 2018 12:32 PM

नई दिल्ली: एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष और सरकार आमने-सामने आ गई है. जब से यह फैसला आया है, तब से कांग्रेस इस फैसले से नाराज चल रही है. मगर अब कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी की नेतृत्व में संसद परिसर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया और सरकार से एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करने की मांग की. इस दौरान नारे लगाए जा रहे थे- दलितों के सम्मान में, राहुल गांधी मैदान में. बताया जा रहा है कि इस कानून को कानून को हल्का बनाए जाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले से न सिर्फ कांग्रेस पार्टी नाराज चल रही है, बल्कि बीजेपी के भी दलित नेता नाराज चल रहे हैं. इससे पहले बीजेपी के एस टी मोर्चा के अध्यक्ष अरविंद नेताम ने कहा था कि हमने सरकार से मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ वह रिव्यू पिटीशन दायर करे. वहीं बीजेपी के सहयोगी दल भी सरकार पर इसे लेकर दबाव बढ़ा रहे हैं. रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले गुट) के नेता रामदास अठावले ने कहा कि अमित शाह ने बताया कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद कोर्ट के फैसले की समीक्षा कर रहे हैं. बीते दिनों एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज कांग्रेस ने कहा था कि एससी-एसटी एक्ट को मोदी सरकार कमजोर कर रही है. साथ ही कांग्रेस ने सवाल उठाया कि आखिर इस एक्ट पर पीएम मोदी चुप क्यों हैं. इतना ही नहीं, कांग्रेस ने इस एक्ट को कमजोर करने के लिए बीजेपी और आरएसएस को जिम्मेदार ठहराया. बीजेपी पर हमला बोलते हुए कांग्रेस ने कहा गरीब और दलित विरोधी चेहरा सामने आ गया है. कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार के चलते देश में सबसे ज्यादा दलितों पर अत्याचार हो रहा है. कांग्रेस इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी. 
 

संबंधित ख़बरें