SHRINAGAR- सीआरपीफ के काफिले पर आतंकी हमले में 40 से अधिक जवान शहीद

SHRINAGAR- सीआरपीफ के काफिले पर आतंकी हमले में 40 से अधिक जवान शहीद
Publish Date:15 February 2019 11:14 AM

सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले में 40 से अधिक जवान शहीद, 

विस्फोटकों से भरी गाड़ी ने जवानों से भरी बस में मारी  टक्कर मारी थी

श्रीनगर। जम्मू से श्रीनगर जा रही सीआरपीएफ की 70 गाड़ियों के काफिले पर कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने फिदायीन हमला कर दिया। अधिकारी के मुताबिक, हमले में 30 जवान शहीद हो गए, कई घायल हैं। इस काफिले में 2500 जवान शामिल थे। जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है।
जैश के आतंकी आदिल अहमद उर्फ वकास कमांडो ने दोपहर 3.15 बजे यह फिदायीन हमला किया। उसने एक गाड़ी में विस्फोटक भर रखे थे। जैसे ही सीआरपीएफ का काफिला लेथपोरा से गुजरा, आतंकी ने अपनी गाड़ी जवानों से भरी बस से टकरा दी। अक्टूबर 2001 में कश्मीर विधानसभा और जनवरी 2004 में सुरक्षा बलों के काफिले पर भी इसी तरह हमला हुआ था। पुलवामा के काकापोरा का रहने वाला आदिल 2018 में जैश में शामिल हुआ था।
एक अधिकारी ने बताया कि काफिला सुबह 3.30 बजे जम्मू से रवाना हुआ था और इसे शाम होने से पहले श्रीनगर पहुंचना था। घाटी लौटने वाले जवानों की संख्या ज्यादा थी, क्योंकि पिछले कुछ दिनों से मौसम खराब होने की वजह से हाईवे पर ज्यादा भीड़भाड़ नहीं थी और इसके कुछ प्रशासनिक कारण भी थे। आमतौर पर ऐसे काफिलों में एक बार में एक हजार जवान होते हैं। लेकिन, इस बार इनकी संख्या 2547 थी। काफिले में रोड ओपनिंग पार्टी और बख्तरबंद आतंकरोधी गाड़ियां भी शािमल थीं। जिस बस को हमले के लिए निशाना बनाया गया, वह 76वीं बटालियन की थी और इसमें 39 जवान सवार थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा बेकार नहीं जाएगी शहादत

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हमला घृणित है। जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। पूरा देश जवानों के परिवार के साथ खड़ा है। राहुल गांधी ने भी इस हमले पर दुख जाहिर किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इस कायराना हरकत से मैं बुरी तरह व्यथित हूं।

संबंधित ख़बरें