सिंगापुर में किशोरी से छेड़छाड़ के आरोप में भारतीय मूल के फिजियोथेरेपिस्ट को जेल

सिंगापुर में किशोरी से छेड़छाड़ के आरोप में भारतीय मूल के फिजियोथेरेपिस्ट को जेल
Publish Date:22 March 2018 05:59 PM

सिंगापुर: सिंगापुर में भारतीय मूल के एक फिजियोथेरेपिस्ट को इलाज के दौरान एक किशोरी से छेड़छाड़ करने के आरोप में 11 महीने की जेल और तीन बार बेंत से मारने की सजा सुनाई गई है। द स्ट्रेट टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, ल्यूक मनीमारन देगाराजू (43) को मार्च 2017 को एक फिजियोथेरेपी सत्र के दौरान एक 18 वर्षीय लड़की को गलत तरीके से छूने का दोषी पाया गया है। वह अपने पीठ दर्द का इलाज करवाने गई थी। उस समय देगाराजू ने लड़की से कहा कि इलाज सत्र 15 मिनट तक चलेगा और उसे थेरेपी रूम के मसाज बेड पर जाने का निर्देश दिया। पीड़िता की दोस्त बाहर इंतजार करने लगी। इस दौरान कमरे का दरवाजा आधा बंद था।रिपोर्ट के अनुसार, मसाज के दौरान फिजियोथेरेपिस्ट ने लड़की से टॉप उतारने और शार्ट्स को ढीला करने को कहा। पीड़िता ने यह सोचकर ऐसा किया कि यह इलाज का एक भाग होगा। मसाज देने के दौरान, देगाराजू ने उसके साथ दो बार अश्लील हरकत की। उप अभियोजक गैल वांग ने कहा, पीड़िता ने थेरेपिस्ट के छूने के दौरान खुद को असहज पाया, लेकिन वह चिल्लाई नहीं और न ही मदद मांगी क्योंकि वह यह नहीं समझ पा रही थी कि यह इलाज का भाग है या नहीं। मसाज तब समाप्त हुआ जब पीड़िता ने दोस्त को फिजियोथेरेपिस्ट से बात करते सुना, जो उस रूम में झांक रही थी और उसे न्यूड देखकर आश्चर्य में थी। जब थेरेपिस्ट से इस बारे में पूछा गया तो, देगाराजू ने दावा किया कि लड़की को श्डीप मसाजश् की जरूरत थी क्योंकि उसकी चोट काफी ज्यादाश् थी। उसने बाद में पीड़िता को उसकी स्थिति से संबंधित एक रिपोर्ट भी सौंपी। पीड़िता ने शुरुआत में इस बारे में शिकायत दर्ज नहीं कराई क्योंकि वह इस बारे में निश्चित नहीं थी कि जिस तरह से थेरेपिस्ट ने उसे छुआ, वह इलाज का भाग था या नहीं। लेकिन उसने दोस्त को अपने साथ घटी घटना के बारे में बताया और बाद में दोनों ने पुलिस से इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई। फिजियोथेरेपिस्ट फिलहाल अभी 10,000 सिंगापुर डॉलर की जमानत राशि पर जेल से बाहर है। उसने अदालत से कुछ निजी मामलों को निपटाने के लिए जमानत मांगी थी। वह अपनी सजा काटने के लिए 20 अप्रैल को आत्मसमर्पण करेगा।
 

संबंधित ख़बरें