स्टरलाइट कॉपर यूनिट के प्रदर्शन ने लिया हिंसक रूप

स्टरलाइट कॉपर यूनिट के प्रदर्शन ने लिया हिंसक रूप
Publish Date:23 May 2018 01:53 PM

तमिलनाडु के थूथुकुड़ी जिले में वेदांता कंपनी की स्टरलाइट कॉपर यूनिट के खिलाफ जारी प्रदर्शन ने मंगलवार को हिंसक रूप ले लिया। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई झड़प में 11 लोगों की मौत हो गई व कई घायल हो गए। वहीं इसी बीच मद्रास हाइकोर्ट की मदुरई बेंच ने बड़ा फैसला लेते हुए स्टरलाइट कंपनी के विस्तार पर रोक लगा दी है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि फैक्ट्री से निकलने वाले केमिकल के कारण कैंसर जैसी घातक बीमारी हो रही है जिसके विरोध में प्रदर्शन किया जा रहा है।
हिंसक प्रदर्शन में 11 लोगों की मौत 
बता दें कि स्टरलाइट कॉपर कारखाने को बंद किये जाने की मांग को लेकर जारी प्रदर्शन के 100वें दिन उस वक्त हालात बेकाबू हो गये जब इन लोगों ने कलेक्टर कार्यालय की घेराबंदी कर कॉपर यूनिट को बंद किये जाने की मांग की। इस दौरान पुलिस के साथ झड़प हुई। इसमें कई लोगों की मौत हो गई। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता और परिवार के एक शख्स को सरकारी नौकरी का ऐलान किया है। जबकि घायलों को तीन-तीन लाख रुपए दिए जाएंगे। इस मामले की जांच के लिए इंक्वायरी कमीशन के गठन की भी घोषणा कर दी गई है।
प्रदर्शनकारियों ने कमल हासन का किया विरोध 
वहीं मशहूर तमिल अभिनेता और सामाजिक कार्यकर्ता कमल हासन आज प्लांट के विरोध में तूतीकोरिन पहुंचे। इस दौरान उन्होंने  पीड़ितों से मुलाकात की और उनका हाल जाना। हालांकि उनके वहां पहुंचने का पीड़ित परिवारों ने विरोध किया और कहा कि आपके यहां आने से हम दिक्कतों का सामना कर रहे हैं, इसलिए आप यहां से वापस चले जायें। हासन ने पीड़ित परिवारों को समझाने की कोशिश की।
 

संबंधित ख़बरें