अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप के प्रचारकों ने चुराया फेसबुक यूजर्स का डेटा

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप के प्रचारकों ने चुराया फेसबुक यूजर्स का डेटा
Publish Date:19 March 2018 06:58 PM

अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनाव के दौरान डोनाल्ड ट्रंप की चुनावी के साथ काम करने वाले एक डेटा एनालिटिक्स फर्म को फेसबुक ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। फर्म पर आरोप है कि उसने सोशल मीडिया साइट से पांच करोड़ प्रोफाइल्स की जानकारी चुराई थी।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने डेटा एनालिटिक्स फर्म कैंब्रिज एनालिटिका और एक यूके बेस्ड प्रोफेसर अलेक्जेंडर कोगन को निलंबित कर दिया है। एनालिटिक्स फर्म की पैरेंट कंपनी स्ट्रैटेजिक कम्यूनिकेशन लैबोरेटरी है और इसरके फाउंडर क्रिस्टोफर वाइली हैं। बता दें कि यूनिवर्सिटी ऑफ कैंब्रिज के प्रोफेसर कोगन ने फेसबुक आधारित एक पर्सनैलिटी प्रेडिक्टर ऐप तैयार किया था। फेसबुक के अनुसार, 'दिस इज योर डिजिटल लाइफ' को करीब 270,000 लोगों ने डाउनलोड किया। दरअसल, इस ऐप के जरिए लोगों की जानकारियां चुराई गई थी। साथ ही इन प्रोफाइल्स से जुड़े हुए फेसबुक फ्रेन्ड्स की निजी जानकारियां भी चोरी की गई थी।
एप बनाकर चुराई जानकारी
इस ऐप को इस तरह से तैयार किया गया था। इसे इस्तेमाल करने वाले यूजरों को भी इसका पता नहीं चल सका। वहीं उनकी बिना जानकारी के ही ऐप से उनकी जानकारियां चोरी की जा रही थी। फेसबुक ने कहा कि इस तरह जब कोगन ने इन जानकारियों को कैंब्रिज एनालिटिका तक पहुंचाया तो उन्होंने प्लेटफॉर्म की नीतियों का उल्लंघन किया था। इसलिए इस फर्म को निलंबित कर दिया गया है। 
 

संबंधित ख़बरें